विभाग की ओर से जनपद के समस्त हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, विद्यालयों सहित विभिन्न स्थानों पर जागरूकता गोष्ठियां आयोजित की गई।अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ पारुल गोयल ने वहां मौजूद बालिकाओं से संवाद करते हुए कहा कि समाज में बालिकाओं के साथ भेदभाव को मिटाने, कन्या भ्रूण हत्या रोकने व उनकी स्थिति को बेहतर बनाने के साथ ही अपने अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए इस दिवस को मनाया जाता है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से भी लिंगानुपात को कम करने और बालिकाओं को बेहतर स्वास्थ्य को लेकर समय-समय पर जन जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाते हैं उन्होंने कहा कि आज समाज में महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है समाज में बालिकाओं को अपने अधिकारों की जानकारी होनी चाहिए बालिकाओं के लिए समाज में समान शिक्षा, मौलिक आजादी, सशक्त,सुरक्षित और विकास के लिए बेहतर माहौल होना चाहिए। टॉक शो में एएन एम ट्रेनिंग सेंटर की छात्राओं द्वारा कविता, भाषण, तथा ड्राइंग प्रतियोगिता के माध्यम से अपने-अपने विचार रखे गए
कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाली छात्राओं में कविता पाठ में आराधना ने प्रथम तथा मोनिका राणा ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया इसके साथ ही पोस्टर प्रतियोगिता में सोनिया ने प्रथम कविता पांडे ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया वहीं भाषण प्रतियोगिता में ज्योति प्रथम तथा मीनाक्षी दूसरे स्थान पर रही जिसके लिए छात्राओं को पुरस्कृत भी किया गया। कार्यक्रम में समन्वयक पीसीपीएनडीटी अशीष रावत ,ट्विटर इंचार्ज सोनी पटवाल, रेखा नेगी, शिप्रा गुसाईं, ममता बामराड़ा तथा
एएनएमटीसी की छात्राओं द्वारा प्रतिभाग किया गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed