उत्तराखंड के हरिद्वार-देहरादून हाईवे पर सोमवार को तीन पानी पुलिया के पास हाईवे से सटे जंगल में युवती की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। प्रथम तस्दीक में किसी धारदार हथियार से युवती का गला रेता गया है। सूचना पर प्रशिक्षु आईपीएस और रायवाला थाना प्रभारी जितेंद्र चौधरी मौके पर पहुंचे और जानकारी ली। प्रथम दृष्टिया गला रेत युवती की हत्या की गई है। कुछ घंटे में ही युवती की शिनाख्त आरती डबराल पुत्री देहरादून शहर कोतवाली में तैनात उपनिरीक्षक शिवप्रसाद डबराल निवासी ऋषिकेश के रूप में हुई है।

जांच के दौरान यह भी सामने आया है कि संदिग्ध युवक ने भी चीला नहर में कूदकर सुसाइड किया गया है. जिसकी पहचान शैलेन्द्र भट्ट के रूप में हुई है. इन दोनों घटनाओं को आपस में जोड़कर देखा जा रहा है। पुलिस कप्तान अजय सिंह समेत आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर जानकारी जुटाई। फॉरेंसिक टीमें छानबीन में जुटी हैं। सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं।

युवती का शव खून से लथपथ है और उसके गले पर धारदार हथियार से वार किए गए हैं। आसपास भी काफी सारा खून पड़ा था। मौके पर फॉरेंसिक की टीम को बुलाकर नमूने एकत्रित करवाए गए। शव को भी पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया। युवती के पास से कोई भी दस्तावेज, मोबाइल आदि बरामद नहीं हुए, जिससे कि उसकी पहचान की जा सके।

जब युवती की फोटो जिले भर की पुलिस के अलग-अलग व्हाट्सएप ग्रुप में भेजने के बाद युवती की शिनाख़्त देहरादून शहर कोतवाली में तैनात सब इंस्पेक्टर शिवप्रसाद डबराल की बेटी आरती डबराल के रूप में हुई। आला अधिकारियों ने घटना का संज्ञान लेते हुए पुलिस टीमों को अलर्ट किया।

इसके बाद हुई जांच पड़ताल में एक संदिग्ध युवक के चीला नहर में कूद कर खुदकुशी करने की बात भी सामने आई। हालांकि, आधिकारिक रूप से अभी पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है, लेकिन इन दोनों ही घटनाओं को आपस में प्रेम – प्रसंग से जोड़कर देखा जा रहा है. पुलिस कप्तान अजय सिंह ने बताया कि हर एंगल से मामले की छानबीन की जा रही है, बहुत जल्द घटना का पर्दाफाश कर लिया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed