उत्तराखंड राज्य के सरकारी चिकित्सालयों में कार्यरत फार्मेसिस्ट अब फार्मेसी ऑफिसर कहे जायेंगे। उत्तराखंड सरकार द्वारा इस आशय का शासनादेश

जारी किया गया है। पदनाम परिवर्तन का शासनादेश जारी होने पर डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन

उत्तराखंड के प्रदेश अध्यक्ष सुधा कुकरेती और महामंत्री सतीश पाण्डेय ने सूबे के स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत का आभार जताया है। विदित हो कि अन्य राज्यों में फार्मेसिस्ट के पदनाम परिवर्तन के आदेश जारी होने के बाद वर्ष 2020 से ही यह उत्तराखंड फार्मेसिस्ट एसोसिएशन की प्रमुख मांग रही है। जारी शासनादेश के अनुसार अब फार्मेसिस्ट का पदनाम बदल कर फार्मेसी ऑफिसर और चीफ फार्मेसिस्ट का चीफ फार्मेसी ऑफिसर कर दिया गया है। अपनी इस मांग की पूर्ति होने पर फार्मेसिस्ट संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुधा कुकरेती की अध्यक्षता और महामंत्री डा सतीश चंद्र पाण्डेय के संचालन में संघ की मुख्य कार्य सम्पादन समिति की वर्चुअल बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में वरिष्ठ उपाध्यक्ष अनिल बिष्ट, उपाध्यक्ष ब्रिजेश कुमार, संगठन मंत्री टी आर रौथाण, संयुक्त मंत्री आजाद चौधरी, कोषाध्यक्ष हरीश उनियाल, संप्रेक्षक संजय कुमार असवाल आदि ने पदनाम परिवर्तन से जुड़ी संगठन की प्रमुख मांग की पूर्ति हेतु स्वास्थ्य मंत्री का आभार प्रकट किया। विदित हो कि विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाले उत्तराखंड राज्य की स्वास्थ्य सेवा की निरंतरता में फार्मेसिस्ट की महत्वपूर्ण भूमिका रही है और ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी फार्मेसिस्ट ही औषधि के साथ न्यूनतम उपचार उपलब्ध करा रहे हैं, जिसे दृष्टिगत रख सरकार ने उन्हें फार्मेसी ऑफिसर के पदनाम से नवाजा है। shasan vibhag ja bhi abhar vyakt kiya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed