मुख्य शिक्षा अधिकारी ने स्कूल में मारा ‘छापा’, प्रधानाध्यापिका समेत तीन शिक्षक मिले नदारद, वेतन रोका हरकी पैड़ी पर परीक्षा पे चर्चा के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता चंडीघाट स्कूल का औचक निरीक्षण करने पहुंच गए।शीतकालीन अवकाश के बाद बच्चे स्कूल आने में तो कम रुझान दिखा ही रहे हैं,
वहीं मास्साहब भी लापरवाही बरत रहे हैं। सोमवार को मुख्य शिक्षा अधिकारी के औचक निरीक्षण में चंडी घाट पुल के नीचे स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय की प्रधानाध्यापिका समेत तीन शिक्षक नदारद मिले। मिड-डे मील और स्कूल परिसर में गंदगी भी पाई गई। इस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी ने तीनों का वेतन रोक दिया है।सोमवार को हरकी पैड़ी पर परीक्षा पे चर्चा के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता चंडीघाट स्कूल का औचक निरीक्षण करने पहुंच गए।
उन्हाेंने वहां देखा कि प्रधानाध्यापिका संध्या त्रिपाठी और सहायक अध्यापक राजेश भट्ट, शालू देवी उपस्थिति पंजिका में हस्ताक्षर कर स्कूल से नदारद थीं। कुछ देर बाद प्रधानाध्यापिका तो स्कूल आ गईं। उन्होंने बताया कि वह स्कूल के काम से बैंक गई थीं।निरीक्षण के दौरान जगह-जगह गंदगी पसरी मिली। मिड-डे मील बनाने वाले स्थान पर भी सफाई ठीक नहीं थी
इस पर उन्होंने कड़ी नाराजगी जताई। बच्चों की संख्या भी आधे से कम पाई गई। मुख्य शिक्षा अधिकारी की ओर से स्कूल में नहीं मिलने वाले तीनों शिक्षकों का वेतन रोकने के आदेश जारी किए गए। साथ ही स्पष्टीकरण भी तलब किया है।उन्होंने स्कूल में सफाई व्यवस्था एक सप्ताह में सुधारने और बच्चों की संख्या बढ़ाने के सख्त निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि अगर नदारद शिक्षकों का जवाब संतोषजनक नहीं पाया गया तो उन्हें सस्पेंड करने की कार्रवाई भी शुरू की जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed