दो दशक से दुर्गम क्षेत्रों में कार्य करने के अनुभव का मिलेगा लाभ
-उत्तरकाशी की भौगोलिक परिस्थितियों से अच्छी तरह वाकिफ हैं डॉ रावत

उत्तरकाशी जनपद के नए मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ

बीएस रावत हो। डॉ रावत की 20 से अधिक वर्षो से दुर्गम क्षेत्र की सेवाओं का लाभ जिले को मिलेगा। साथ ही भौगोलिक परिस्थितियों से अच्छी तरह वाकिफ होने से डॉ रावत की तैनाती से आम लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिलने की उम्मीदें हैं।
उत्तरकाशी जिला अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक एवं हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ बीएस रावत (भगेन्द्र रावत) को उत्तरकाशी का सीएमओ बनाया गया है। गौरतलब है कि डॉ रावत स्वेच्छिक रूप से पिछले 20 से अधिक सालों से दुर्गम अस्पतालों में सेवाएं देते आ रहे हैं। विषम परिस्थितियों वाले उत्तरकाशी की गंगा और यमुनाघाटी से लेकर गंगोत्री, यमुनोत्री यात्रा, आपदा समेत वीआईपी कार्यक्रमों को निभाने का डॉ रावत को अनुभव है। ऐसे में नए सीएमओ के रूप में उनकी तैनाती निश्चित ही उत्तरकाशी की बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए महत्वपूर्ण साबित होगी अंतिम व्यक्ति तक मिले स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नए सीएमओ के रूप में कार्यभार ग्रहण करते हुए डॉ बीएस रावत ने कहा कि अंतिम व्यक्ति और हर जरूरतमंद तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाना उनकी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद को समय पर सही इलाज मिलना चाहिए।जिले के हर इलाके में स्वास्थ्य शिविरों के आयोजन, सभी छोटे बड़े अस्पतालों में स्टाफ, उपकरण एवं स्वास्थ्य सेवाओं की सुदृढ़ मॉनिटरिंग कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ पहुंचाएंगे। इसके अलावा सीएमओ डॉ रावत ने कहा कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन करना, आपदा और चारधाम यात्रा के दौरान बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराना भी उनकी प्राथमिकताओं में रहेगा। उन्होंने कहा कि जिले के सभी अस्पतालों में समन्वय बनाकर आम नागरिकों को समय पर सही स्वास्थ्य सेवाएं मिले, इसका भरसक प्रयास किया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed