विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर महाविद्यालय पैठाणी में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत एक दिवसीय जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया कार्यक्रम में डॉ आशीष गुसाई द्वारा मानसिक रोग के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई उनके द्वारा कहा गया कि वर्तमान समय में मानसिक बीमारी दुनिया भर में एक गंभीर समस्या है हमे अपने शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य का भी प्राथमिकता से ध्यान रखना चाहिए मानसिक बीमारी से व्यक्ति किसी भी परिस्थिति में आशाहीन महसूस करने के साथ ही मादक पदार्थों का अधिक सेवन करता है व्यक्ति की दिनचर्या में बदलाव होने लगता है व्यक्ति ब्लड प्रेशर, मधुमेह, इम्यूनिटी में कमी, सर दर्द,नींद ना आना जैसी शारीरिक परेशानियों का सामना करता है उनके द्वारा बताया गया कि तनाव मुक्त जीवन जीने के लिए सकारात्मक सोच, योग, ध्यान,प्राणायाम, एवं संतुलित दिनचर्या के साथ ही मानसिक बीमारी के प्रति जागरूक रहें उनके द्वारा बताया गया कि तंबाकू, शराब और नशीले पदार्थों से दूर रहें पर्याप्त नींद लें अपने दोस्तों व परिवार जनों के संपर्क में रहने के साथ ही अपनी भावनाओं को उनसे साझा करें सक्रिय और मनोरंजक गतिविधियों में खुद को व्यस्त रखें। कार्यक्रम में एनडीपीएस एक्ट 1985 तथा एनटीसीपी एक्ट के अंतर्गत प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव एवं बचाव के तरीकों के बारे में भी चर्चा की गई कार्यक्रम में मौजूद महाविद्यालय के 300 छात्र छात्राओं द्वारा एनडीपीएस E pledge – Say Yes To Life No to Drugs की शपथ ली गई। कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राचार्य जे. नेगी,मनमोहन देवली,आशीष रावत के साथ ही कालेज के छात्र छात्राएं व शिक्षक मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed